उड़ीसा के  राष्ट्रीय सम्मान समारोह  में  थैलेसीमिया के लिये जागरुक किया 
December 16, 2019 • Chanderpal

 

महावीर इंटरनेशनल को विशेष राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया

हृदयेश सिंह भुवनेश्वर

उड़ीसा के भुवनेश्वर शहर  में  समर्पित  फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा आयोजित पहला  राष्ट्रीय रक्त्दता सम्मान समारोह के आयोजन में महावीर इंटरनेशनल को विशेष तौर पर थैलेसीमिया के प्रति जागरुकता के लिये आमंत्रित किया गया। इस कार्यक्रम में  देश भर के लगभग सभी प्रदेशों के रक्त मोटीवेटोर्स को आमंत्रित कर सम्मानित किया गया। महावीर इंटरनेशनल के अंतरराष्ट्रीय उमेश अरोड़ा द्वारा सभी  रक्त वीरों और  संस्थाओं के  पदाधिकारियों को थैलेसीमिया के पृति जागरुक किया और विस्तार से पूरी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आप सब एक दिये को जलाने का काम कर रहे है । ये दीपक तब तक ही जलेगा, जब तक आप सब इसमें  रक्त रूपी तेल डालते रहेंगे नही, तो ये दिया बुझ जायेगा। इस दिये को नियमित जलते रहने के लिये रक्त की आवश्यक्ता को पूरे करने वालों को आभार और साधुवाद।
साथ ही ये भी याद दिलाया कि  यदि थैलेसीमिया को रोका नही गया और इसी प्रकार थैलेसीमिया के ग्रसित बच्चे बढ़ते गये तो आने वाले 15-20   सालों में  केवल थैलेसीमिया के  बच्चों के लिये ही 1 करोड़ यूनिट रक्त की अवश्यक्ता रहेगी। जोकि आज की भारत की कुल रक्त संग्रह है।
बहुत सी  संस्थाओं ने वक्तव्य के बाद संस्था के साथ जुड़ इस मुहीम को आगे बढ़ाने में अपना पूरा सहयोग देने का वचन दिया और देश को थैलेसीमिया के लिये जागरुक करने का आश्वासन दिया।
इसी कार्यक्रम में  विशेष   अतिथि एग्रीकल्चरल और फ़ार्मर्स्स एम्पोवेर्मेंट और मतस्य विभाग से  डॉ अरुण कुमार  साहू द्वारा महावीर इंटरनेशनल को रक्त्दान, रोको थैलेसीमिया मे नियमित रूप से कार्य करने के लिये विशेष सम्मान से सम्मानित किया गया।