शराब माफियाओं का विरोध करने पर महिला को पीटा
December 14, 2019 • Chanderpal

         

     

नागु वर्मा उज्जैन

        नागदा में लगातार अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है जहां अपराधी  बेखौफ नजर आ रहा है नागदा में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है की इन अपराधियों के खौफ से आज पुलिस प्रशासन भी इन अपराधियों पर सख्त कार्यवाही करने के विषय को लेकर विकलांग नजर आ रहा है ।इन अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि इन्हें किसी का भय नहीं चाहे वह प्रशासन हो चाहे वह देश का चौथा स्तंभ क्यों ना हो कहीं ना कहीं इन भाई लोगो की प्रशासनिक सिस्टम से पकड़ मजबूत दिखाई दे रही है जिसके चलते हर व्यक्ति इन के डर से सहमा हुआ नजर आ रहा है । क्योंकि शासन का सिस्टम कहीं ना कहीं गढ़ बढ़ाया दिख रहा है नेता राजनेता के दबाव में प्रशासन मौन बैठा हुआ है या कहीं ना कहीं हर रसूखदार व्यक्ति इन अवैध धंधे से जुड़ा नजर आता है इन अपराधियों की पोज इतनी होती है कि हर व्यक्ति इनके बारे में कुछ कहने से सहमा हुआ है क्योंकि उसे पता है कि यहां का प्रशासनिक अमला हमारे कुछ कहने पर भी काम नहीं आने वाला है आप देखेंगे कि किस तरह परिवारिक लोक इन शराब माफियाओं से परेशान हो चुका है कई बार यहां पर महिलाओं पर हमला हुआ है लेकिन उसके बाद भी वह परिवार इन अपराधियों के खौफ के चलते पुलिस को शिकायत करने पर भी डरा हुआ नजर आता है ।

         लेकिन आज एक परिवार महिला के साथ इन अपराधियों की निर्मलता के बाद जागा है लेकिन उसके बाद पुलिस प्रशासन की फिल्म पूर्ण रवैया को देखने के बाद यह परिवार सहमा और डरा हुआ दिखा। क्योंकि इस परिवार ने शराब माफियाओं का अपने घर के सामने शराब बेचने के लिए विरोध किया लेकिन बाद मैं महिला और इसके परिवार को निर्मम तरीके से पीटा गया एक बालक जिसकी उस दिन बारहवीं की एग्जाम थी वहां वह इन अपराधियों के खोफ के कारण एग्जाम से भी वंचित रह गया । शराब माफियाओं का विरोध करने पर महिला को पीटने का यह दूसरा मामला था लेकिन इसके पूर्व वह महिला इन अपराधियों के खौफ से थाने तक नहीं पहुंची लेकिन आज इस परिवार ने हिम्मत  कि साथ ही इन अपराधों के अपराध की वीडियोग्राफी के रिकॉर्ड भी हमें दिखाए और हिम्मत कर आज इन्होंने इनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने का भी प्रयास किया है लेकिन प्रशासनिक सिस्टम भी कहीं ना कहीं इन अपराधियों के सामने लाचार दिखा ।

            इस परिवार से मिलने के बाद हमने ने एसपी से बात की और सारे सबूत उज्जैन एसपी सचिन अतुलकर के व्हाट्सएप नंबर पर भेजें इसके सबूत हमारे पास मौजूद है तब जाकर तुरंत अगले 1 घंटे के अंदर नागदा पुलिस सकते में आई और इन अपराधियों पर कार्रवाई कर इन्हें तुरंत गिरफ्तार किया गया लेकिन हम आपको बता दें कि नागदा में इस तरह का अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और पुलिस प्रशासन अपनी विकलांगता दिखा रहा है यहां अपराधी इन प्रशासनिक अमले से बिल्कुल नहीं डरता वही यहाँ महिला अपने आप को  आज भी असुरक्षित महसूस कर रही है  ।

   

   

     नागदा में  शराब माफियाओं का इतना आतंक है कि वह महिलाओं पर भी हमला करने से नहीं चूक रहे हैं नागदा के थाने के पीछे चेतन पूरा क्षेत्र का  एक मामला एक परिवार ने अपने घर के सामने शराब बेचने का विरोध किया  तो देखिए उनके साथ किस तरीके से बर्ताव किया जाता है यह हम आपको दिखा रहे हैं एक महिला को निर्मम तरीके से पीटा जाता है और फिर जब वह थाने में जाती है तो उसे मेडिकल उपचार के लिए हॉस्पिटल में छोड़ दिया जाता है और फिर वही अपराधी  बैठे-बैठे  हॉस्पिटल में भी उनकी निगरानी रखने के लिए अपने गुर्गे छोड़ते हैं ।उन्हें पुलिस प्रशासन को शिकायत करने और मीडिया को बताने पर जान से मारने की धमकी  मिलती रही जब हमने उज्जैन एसपी को सूचना दी तब तुरंत पुलिस प्रशासन सकते में आई और लगभग शाम को 6:00 से 7:00 के बीच में अपराधियों को गिरफ्तार किया गया फिर थाने में महिला और उस परिवार के बयान दर्ज हुए । नागदा में अपराधियों के हौसले लगातार बुलंद होते जा रहे हैं आज आप देखेंगे कि किस तरह एक महिला को न्याय के लिए अपनी अस्मिता दिखाना पड़ती है जब हम नागदा की शासकीय हॉस्पिटल में इस परिवार से मिलने गए तो यह पूरा परिवार उस महिला के साथ खौफ में दिखा यह परिवार इन अपराधियों के डर से नागदा से पलायन करने को कहने लगा देखिए किस तरह एक महिला और उसका परिवार न्याय के लिए शाम तक इंतजार करता रहा आप देखें की किस तरीके से इन आतंकी शराब माफियाओं द्वारा इस महिला और इसके परिवार के साथ दरिंदगी कि गई । 

              जहां आज महिलाओं के ऊपर बढ़ते अपराध को देखते हुए शासन प्रशासन की ओर से महिला सुरक्षा की बात कही जा रही है वहीं आज एक महिला अपने साथ हुए अन्याय के लिए दिनभर शासकीय हॉस्पिटल में अपने परिवार के साथ शासकीय हॉस्पिटल के बेड पर इंतजार करती रही कि कब उस अपराधी की गीरफदारी होगी।  नागदा थाना प्रभारी श्याम चन्द्र शर्मा 29 इनकाउंटर स्पेशलिस्ट अधिकारी ने मामले को बहु खुभी समझा और जितेंद्र पिता आशाराम उम्र 32 वर्ष ,विनोद पिता नंदकिशोर उम्र 30 वर्ष लखन,शरीफ,यूनुस,सुनील,महिला चांदनी सभी निवासी चेतनपुरा नागदा के अपराधियो को गिरफ्तार कर सभी अपराधियो  को जेल भेजा गया।