रेडक्रॉस का मिशन मानवीय जिंदगी और सेहत को बचाना : डॉ एमपी सिंह
January 11, 2020 • Chanderpal

हृदयेश सिंह, बल्लमगढ़

रेड क्रॉस भवन सेक्टर 12 फरीदाबाद में चल रहे आठ दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के सातवें दिन प्राथमिक सहायता के प्रवक्ता डॉ एमपी सिंह ने रेड क्रॉस के इतिहास की जानकारी देते हुए कहा कि रेडक्रॉस एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है जिसका मिशन मानवीय जिंदगी और सेहत को बचाना है इसकी स्थापना 1863 में हेनरी डूनॉट ने जेनेवा में की थी यह संस्था युद्ध के दौरान विभिन्न देशों के साथ समन्वय का कार्य करती है यह संस्था होने वाली महामारी बीमारी जैसी प्राकृतिक आपदा में पीड़ितों की सहायता करती है तथा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय व गैर सरकारी संस्थानों के साथ मिलकर बनावटी हाथ बनावटी पैर बनावटी दांत कानों की मशीन आंखों के चश्मे छड़ी मोटराइज्ड साइकिल आदि प्रदान करती है डॉ एम पी सिंह ने कहा कि रेड क्रॉस का इतिहास स्वर्णिम है जो हम सभी को मानवता के साथ सहयोग और सेवा की भावना के लिए प्रेरित करता है डॉक्टर एमपी सिंह ने बताया कि 26 अक्टूबर 1863 से युद्ध क्षेत्र में घायलों की सेवा करने का मुख्य उद्देश्य रखकर रेडक्रॉस ने लाल रंग का क्रॉस सुरक्षा एवं सहायता के लिए निर्धारित किया इस चिन्ह का इस्तेमाल किसी भी दशा में किसी भी तरह के फायदे के लिए नहीं किया जा सकता विषम परिस्थितियों में पीड़ितों की सहायता के लिए ही इस चिन्ह को उपयोग में लाया जा सकता है इस चिन्ह का प्रयोग सेना के चिकित्सक, जवान, अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस एवं रेड क्रीसेंट के अधिकारी पदाधिकारी व सदस्य ही कर सकते हैं डॉ एमपी सिंह ने बताया कि यदि इस चिन्ह का प्रयोग कोई व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए करता है तो उस पर सजा व जुर्माने का प्रावधान है कोई भी गली मोहल्ले का डॉक्टर या नर्सिंग होम इस चिन्ह को उपयोग में नहीं ला सकते हैं