प्रेस पर तालाबंदी के विरोध में पत्रकारों ने दिया ज्ञापन
December 2, 2019 • Chanderpal

नागु वर्मा  उज्जैन 
उज्जैन तराना- संझा लोकस्वामी सांध्य डेनिकेन समाचार पत्र के द्वारा लगातार हनीट्रैप मामले में सफेदपोशों के काले कारनामो को उजागर किये जाने से बोखलाए इंदौर के प्रशासनिक तंत्र ने शनिवार रात्रि को द्वेषतापूर्ण तरीके से संझा लोकस्वामी समाचार पत्र के कार्यालय के साथ ही विभिन्न प्रतिष्ठानों पर भारी पुलिस बल की मौजूदगी में छापे डाले गए थे, जिसके विरोध में सोमवार को तराना तहसील के समस्त पत्रकार साथी स्थानीय बस स्टैंड पर एकत्रित हुए उसके पश्चात सभी पत्रकारगण एक साथ मोन रैली के रूप में नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए तहसील परिसर पहुंचे,  जहां प्रदेश के  महामहिम राज्यपालजी  के नाम एसडीएम गोविंद दुबे को ज्ञापन दिया गया। इस दौरान पत्रकारों ने नारे लगाकर अवैधानिक कार्यवाही की निंदा की। ज्ञापन के पूर्व वरिष्ठ पत्रकार सुभाष जोशी ने बताया कि संझा लोकस्वामी कार्यालय पर इंदौर के प्रशासनिक तंत्र द्वारा की गई कार्रवाई घोर निंदनीय है, जिसको लेकर तराना तहसील के समस्त पत्रकार साथियों द्वारा एक साथ मिलकर यह ज्ञापन दिया प्रदेश के महामहिम राज्यपाल के नाम दिया जा रहा है और हम सभी साथी यह मांग करते है कि
वरिष्ठ पत्रकार जीतू सोनी व उनके साथियों पर दर्ज किए गए प्रकरण को जल्द से जल्द वापस लिया जाए साथ ही संझा लोकस्वामी कार्यालय से जप्त की गई सामग्री व उपकरण जल्द से जल्द वापस किए जाएं। ज्ञापन देने में मुख्य रूप से वरिष्ठ पत्रकार एम आरिफ खान, पत्रकार किशन जोशी , पत्रकार अशौक वक्त, पत्रकार सुभाष जोशी, पत्रकार कृष्णपाल सिंह तोमर , पत्रकार कल्याण सिंह तोमर, पत्रकार नानावटी प्रजापति, पत्रकार सतीश जायसवाल, पत्रकार महेश जोशी, पत्रकार सैय्यद नियामत अली, पत्रकार पीयूष कलोशिया, पत्रकार विशाल बोड़ाना, पत्रकार निर्भय सिंह राठौर, पत्रकार शिखर शर्मा सहित नगर के प्रबुद्धजनो में पंडित अखिलेश चतुर्वेदी, नरेंद्र बिड़ला, गजेंद्र पालोत्रा, राजेश ठाकुर, शक्तिसिंह परिहार, राजेश जोशी , दिनेशचंद्र वाजपेयी, धर्मेंद्र जयसवाल, सुनील मंडलोई, संतोष शर्मा, गिरधारी लाल उपस्थित थे। ज्ञापन का वचन पत्रकार सैय्यद नियामत अली ने किया।