पलवल की कैंप कॉलोनी स्थित श्रद्वानंद चौक पर रविवार को राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया
December 23, 2019 • Chanderpal


हृदयेश सिंह फरीदाबाद 

पलवल की कैंप कॉलोनी स्थित श्रद्वानंद चौक पर रविवार को राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी मैमूना शाहरएजिला शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार बघेल भी मौजूद थे। इस अवसर पर डीपीएस पुलिस पब्लिक स्कूलए भारत स्काउट गाइड़स व सरकारी स्कूल के विद्यार्थियों ने हरियाणवीं लोक गीतों सहित विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों तथा खेल की गतिविधियां आयोजित की गई। इस अवसर पर सामाजिक संस्थानों की तरफ से लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में स्लोगन लेकर जागरूक किया गया ताकि सर्दी व कोहरे के मौसम में सडक़ दुर्घटनाओं से बचाव किया जा सके। जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के सहयोग से आयोजित किया गया राहगीरी कार्यक्रम लोगों की भागेदारी से लोकप्रिय होता जा रहा है। राहगीरी कार्यक्रम में हरियाणवी लोक ;गीत मत छेड़ बलम मेरे चूंदड़ नद्ध के माध्यम से हरियाणवीं संस्कृति को प्रस्तुत किया गया। स्कूली बच्चों ने राजस्थान व हिन्दी गानों के ऊपर नृत्य प्रस्तुत कर लोगों को आकर्षित किया। परिवहन विभाग व सामाजिक संस्थानों ने लोगों को सर्दी के मौसम में यातायात के नियमों का पालन करने तथा कोहरे में धीमी गति से वाहन चलाने के बारे में जागरूक किया। इसी के साथ ही एमवीएन विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग के सह अध्यापक गिरीश कुमार एवं अश्वनी शर्मा ने लोगों को सेल्फ मेडिकेशन डेंजरस टू हेल्थ यानी स्वयं दवाई लेना स्वास्थ्य के लिए कितना हानिकारक है के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि हम समय के अभावएपैसे की बचत इत्यादि की वजह से डॉक्टर के पास जाने की बजाए खुद से ही दवाइयां ले लेते हैं जिसका स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।कई बार तो खुद से दवाइयां लेना मौत का भी कारण बन सकती है। ट्रैफिक ताऊ ने लोगों को वाहन चलाते समय सीट बेल्ट व हेलमेट का प्रयोग करने तथा वाहनों पर रिफलेक्टर लगाने के लिए जागरूक किया। इसके अतिरिक्त  राहगीरी कार्यक्रम में योगाए डांसए रस्सा.कस्सीए जुम्बा डांसएतथा खेल की अन्य गतिविधियों ने लोगों को स्वास्थ्य रहने के लिए प्रेरित किया। इसी के साथ ही ट्रेनर जिओ बचपन संस्था के नन्हें.मुन्ने बच्चों द्वारा आंखो पर पट्टी बांधकर दी गई प्रस्तुति सबको आश्चर्य में डाल दिया। इन बच्चों ने अपनी आंखो पर रूई व पट्टी बांधकर अधिकारियों की पहचान की तथा रुपयों की पहचान कर उनके नंबर तक बताए। यहां तक की बच्चों ने बंद आंखो पर पट्टी बांधकर न्यूज पेपरों को पढक़र सुनाया तो सभी ने दांतो तले उंगली दबा ली। मुख्यमंत्री की सुशासन सहयोगी मैमूना शाहर ने कहा कि इस बार राहगीरी कार्यक्रम का थीम सुशासन ;गुड गवर्नेन्सद्ध पर आयोजित किया गया था। सरकार व नागरिकों के बीच में तालमेल होना जरूरी है। सरकार नागरिकों के द्वारा बनाई जाती है। सरकार भी नागरिकों के हित में कार्य करें। इसके लिए सरकार द्वारा नागरिकों के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाऐं बनाई जाती है। लोगों को सरकार द्वारा बनाई गई योजनाओं का लाभ उठाना चाहिए। राहगीरी कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को उनके स्वास्थ्य के बारे में जागरूक करना है। सरकार द्वारा आयोजित राहगीरी कार्यक्रमों में जन भागेदारी होनी चाहिए ताकि लोगों की जीवनशैली में बदलाव हो सके। राहगीरी कार्यक्रमों में लोगों को मनोरंजन के साथ स्वास्थ्य रहने के लिए प्रेरित किया जाता है। लोग स्वस्थ्य रहेगें तो समाज भी स्वस्थ्य रहेगा। देश के नागरिक स्वस्थ्य रहेगें तो देश भी तरक्की करेगा। पलवल प्रशासन व पुलिस विभाग पलवल के लोगों से आह्वड्ढन करता है कि वे अधिक से अधिक संख्या में राहगीरी कार्यक्रम में पहुंचकर कार्यक्रम का हिस्सा बनें।