दिल्ली सरकार ने  8147 करोड़ रुपये खर्च कर कच्ची कालोनियों का कायापलट किया - श्री  अरविंद केजरीवाल
November 30, 2019 • Chanderpal

कुसुम लता , नई दिल्ली 

जिस तरह पांच साल में कच्ची कालोनियों में विकास हुआ उतना सत्तर साल में कभी नहीं हुआ। आम आदमी पार्टी से पहले की सरकार की नियत खराब थी। वह विकास करना नहीं चाह रही थी। आम आदमी पार्टी की सरकार ने वर्ष 2015 - 2019 तक 8147 करोड़ रुपये खर्च कर कच्ची कालोनियों का कायापलट कर दिया। मुख्यमंत्री ने कहा जिस तरह पांच साल में कच्ची कालोनियों में विकास हुआ, वह पहले भी हो सकता था। लेकिन पहले की सरकारों की नियत साफ नहीं थी। इसे इस बात से भी समझा जा सकता है  कि  वर्ष 2009 से 2014 तक कच्ची कालोनियों पर महज 1186 करोड़ रुपये खर्च हुए। जबकि आम आदमी पार्टी ने लगभग आठ गुना अधिक खर्च कर कच्ची कालोनियों में विकास कराई। 

मुख्यमंत्री  अरविंद केजरीवाल ने कहा दिल्ली में नौकरी की तलाश में लोग आते गए। तीस चालीस साल में बहुत ज्यादा लोग आए। डीडीए की जिम्मेदारी थी सस्ते घर दिलाने की। उसने उतने घर नहीं बनाए, इस कारण कच्ची कालोनियां विकसित हो गई। 70 साल तक अन्य सरकारों ने काम नहीं किया, इस कारण इन कालोनियों में विकास नहीं हो पाया। सीएम ने कहा कच्ची कालोनियां रहने लायक़ नहीं थी। हमने पांच साल में कच्ची कालोनियों में रहने वालों को सम्मान दिलाया। हमने सड़कें बनवाई नालियाँ बनवाई। जिससे बरसात का पानी घर में जाना बंद हुआ। सीवर की लाइनें डलवाई। 24 घंटे बिजली की व्यवस्था कराई गई। दो सौ यूनिट मुफ्त बिजली दी गई। 20 हजार लीटर मुफ्त पानी दिया गया। इससे कच्ची कालोनी में रहने वालों का जीवनस्तर भी दिल्ली के अन्य हिस्सों में रह रहे लोगों के बराबर हुआ। आज कच्ची कालोनी में रहने वाले भी गर्व से कह सकते हैं कि हम दिल्ली का हिस्सा हैं।

कच्ची कालोनियों में रहने वालों का जीवन बदलने का वादा पूरा किया  - श्री  अरविंद केजरीवाल

सीएम श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि  पांच साल पहले कच्ची कालोनियों का हाल बेहाल था। मैं 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान कच्ची कालोनियों में जाता था तो वहां रह रहे लोगों की परेशानी से रू ब रू होता था। मैंने तभी लोगों से वादा किया था कि सरकार बनने के बाद कच्ची कालोनियों को नरकीय जीवन से बाहर निकाला जाएगा। पिछले पांच साल में कच्ची कालोनियों का कायापल्ट हुआ है। सड़कों का निर्माण कराया गया। सीवर लाईन डलवाया गया। अब 24 घंटे व दो सौ यूनिट तक मुफ्त बिजली मिल रही है। लोगों को मुफ्त पानी मिल रहा है। सीसीटीवी कैमरे लग गए। विधायक निधि से कच्ची कालोनियों में गेट लगवाया गया। मोहल्ला क्लीनिक का सबसे ज्यादा फायदा इन कालोनियों में रह रहे लोगों को हो रहा है। पिछले पांच साल में कच्ची कालोनियों में रह रहे लोगों का जीवन स्तर बिल्कुल बदल गया है। सरकारी स्कूलों में बच्ची अब निजी स्कूल के स्तर की शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।  हमने 8 हजार करोड़ से अधिक रुपये खर्च कर पानी, नाली, सीवर व बिजली की व्यवस्था कर दी। कच्ची कालोनियों में स्ट्रीट लाइट पर भी नियम बना दिया गया है। अब सभी स्ट्रीट लाईट के रखरखाव की जिम्मेदारी दिल्ली सरकार करेगी।  दिल्ली की कच्ची कालोनियों में स्थित सेप्टिक टैंक की मुफ्त सफाई भी अब दिल्ली सरकरा कराएगी। इस तरह कच्ची कालोनियों में रहने वालों का जीवन बदलने का वादा पूरा किया।