छात्रों  पर हुए लाठीचार्ज का विरोध करते हुए  शाही मस्जिद में  थानाध्यक्ष को सौंपा ज्ञापन।
December 19, 2019 • Chanderpal


नसीम अहमद बिजनौर

 स्योहारा -सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन अधिनियम(2019) कैब, एनआरसी बिल एवं जामिया यूनिवर्सिटी और अलीगढ़ यूनिवर्सिटी  में पुलिस द्वारा छात्रों के साथ हुए बर्बरता पर रोष व विरोध जताते हुए आज नगर व क्षेत्र के हज़ारों मुस्लिम समाज के लोगो ने शाही मस्जिद में जमा होते हुए शहर इमाम के नेतृव में एक ज्ञापन थानाध्यक्ष को सौंपते हुए राज्यपाल को प्रेषित किया।
ज्ञापन में समस्त मुस्लिम समाज ने मांग करते हुए कैब, एनआरसी बिल वापस लेने,छात्रों पर लाठीचार्ज करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही करने व छात्रों पर लगे सभी आरोपो को वापस लेने की मांग की।
इस मौके पर बोलते हुए शहर इमाम मौलाना कामिल अंसारी और दीगर उलेमाओ ने कहा की यूँ तो नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध देश भर में हो रहा है,जिसके चलते विरोध कर रहे  नागरिको एवं छात्रों पर पुलिस द्वारा  जबरदस्ती बल का प्रयोग किया जा रहा है,पर आज हम ओर हमारे शहर के शांति प्रिय मुस्लिम समाज ने यहां जमा होकर अमन के साथ इस बिल में जो मुस्लिम समाज को बिल की सुविधाओं से बहार रखा गया है इसकी पुरजोर मज़म्म करते है और उसको समाप्त करने की मांग करते हैं। वहीं दूसरी ओर थानाध्यक्ष उदय प्रताप सिंह ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए नागरिकता संशोधन अधिनियम के बारे में बताते हुए कहा कि इस बिल से हिंदुस्तान में रहने वाले मुसलमानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है जो लोग दूसरे देशों में अल्पसंख्यक हैं और किसी कारण वे हिंदुस्तान में आकर रहना चाहते हैं उनको नागरिकता प्रदान सरकार के द्वारा दी जाएगी उन्होंने युवाओं को सचेत करते हुए कहा की कोई भी फेसबुक और व्हाट्सएप पर इस बिल के बारे में भ्रांति ना फैलाएं यदि  किसी ने भी  इस बिल  को लेकर  किसी भी तरह की अफवाह फैलाई  तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं और युवकों को संदेश दिया कि वे अपना कीमती समय अपनी पढ़ाई लिखाई में लगाएं और देश का उज्जवल भविष्य बने।
इस मौके पर जामा मस्जिद इमाम मौलाना इम्तियाज कासमी,मौलाना मोहम्मद शाहिद,मुफ़्ती अली हसन,मुफ़्ती फरमान,हाफिज मुशाहिद अली, हाजी मोहम्मद इल्यास, अफ़ज़ाल चौधरी,इमरान अख्तर उर्फ सनी,चौधरी फहीम उर रहमान,चो. शहबाज़ जमाल,नजीब उल हसन,सुहेल ज़फ़र,अहतशाम उल हसन , आदिल चौधरी,डॉ रईस, असजद चौधरी,खलीक चौधरी , आसिफ़ अली खां उर्फ जीशान ,फ़िरोज़ हैदर  ऐडवोकेट, आरिफ गांधी, सफदर रिहान, चौधरी लताफत,नदीम ज़फ़र, डॉक्टर जुनैद, महफूज़ सागर आदि हजारो लोग शामिल रहे।