अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट ने ज्योती पब्लिक स्कूल के पदाधकारियों के साथ मनाई सुभाष चन्द्र बोस की 123 वीं जयंती
January 24, 2020 • Chanderpal

सिमरन कनौजिया,नई दिल्ली 
आज दिनांक 23 जनवरी 2020 को  बल्लभगढ़ के भीकम कॉलोनी स्थित ज्योती पब्लिक स्कूल  के बच्चों के साथ  मनाई सुभाष चन्द्र बोस की 123 वीं जयंती मनाई इस मौके पर ज्योति पब्लिक स्कूल के प्रबंधक जगबीर कपासिया ने सुभाष चन्द्र बोस के जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला व बच्चों को बताया कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 में हुआ था।  उन्होंने पहले भारतीय सशस्त्र बल की स्थापना की थी जिसका नाम आजाद हिंद फौज रखा गया था।  उनके 'तुम मुझे खून दो मैं, तुम्हें आजादी दूंगा' के नारे से भारतीयों के दिलों में देशभक्ति की भावना और बलवान होती थी। आज भी उनके इस नारे से सभी को प्रेरणा मिलती है। अखिल भारतीय मानव कल्याण ट्रस्ट के राष्ट्रीय महामंत्री हृदयेश सिंह ने बताया नेता जी की
मृत्यु 18 अगस्त 1945 विमान दुर्घटना में हो गई थी उन्होंने अंग्रेजों को भारत देश से निकालने के लिए ‘आजाद हिन्द फ़ौज’ की स्थापना की सुभाष चंद्र बोस को ‘नेता जी’ भी बुलाया जाता है। वह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक प्रख्यात नेता थे| हालाँकि देश की आज़ादी में योगदान का ज्यादा श्रेय महात्मा गाँधी और नेहरु को दिया जाता है मगर सुभाष चन्द्र बोस का योगदान भी किसी से कम नहीं था| प्रभावती और जानकी नाथ की 14 संतानें थीं जिसमें छह बेटियां और आठ बेटे थे। सुभाष उनमें से नवें स्थान पर थे। सुभाष बचपन से ही पढ़ने में होनहार थे। उन्होंने दसवीं की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त किया था और स्नातक में भी वो प्रथम आए थे। कलकत्ता के स्कॉटिश चर्च कॉलेज से उन्होंने दर्शनशास्त्र में स्तानक की डिग्री हासिल की थी। उसी दौरान सेना में भर्ती हो रही थी। उन्होंने भी सेना में भर्ती होने का प्रयास किया परंतु आंखें खराब होने के कारण उनको अयोग्य घोषित कर दिया गया। वे स्वामी विवेकानंद के अनुनायक थे।

अपने परिवार की इच्छा के अनुसार वर्ष 1919 में वे भारतीय प्रशासनिक सेवा की तैयारी के लिए इंग्लैंड पढ़ने गये।इस मौके पर स्कूल स्टाफ अध्यापिका पुष्पलता ने बताया कि मानव सेवा ही सच्ची सेवा है ने कहा कि हमें हर जरूर मंद लोगों की मदद करने से ख़ुशी मिलती है इस मौके राष्ट्रीय सचिव सुस्मिता भूमिक ने बताया कि हमरा उद्देश्य है कि समाज में छोटे छोटे  बच्चे नशे के आदि हो रहे है हम सभी को नशा मुक्ति के लिए प्रेरणा देते हैं ट्रस्टी विमलेश देवी ने बताया कि हम  सभी को एक जुट रह कर एक दूसरे का साथ देना चाहिए आपस में भाई चारा होगा तो अच्छा होगा इस मौके पर राष्टीय प्रभारी धर्मेंद्र चौधरी, राष्टीय महासचिव महेश शर्मा ,राष्टीय महामंत्री ह्रदयेश सिँह, कोषाध्यक्ष मधू शर्मा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कुंवर लखन रावत ,राष्ट्रीय सचिव नीलम तेवतिया , राष्ट्रीय सचिव सुष्मिता भौमिक,राष्ट्रीय सचिव नीलम शर्मा, राष्ट्रीय सचिव सुषमा तेवतिया,प्रदेश अध्यक्ष संगीता नेगी, संजय शर्मा,ट्रस्टी विमलेश देवी, बेबी देवी, मनीषा देवी, अनीता सिंह, योगिता , प्रियंका , प्रिया, बीना , प्रियंका मिश्रा, अमिता ,अर्चना, नगमा व पूजा और बहुत से ट्रस्ट के सदस्य मौजूद रहे l